विपक्षी बहिष्कार के बीच नीतीश की हुई ताजपोशी, तार किशोर और रेणु बने डिप्टी सीएम

बिहार लोक संवाद ब्यूरो

पटना 16 नवंबर: राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के नेता नीतीश कुमार ने आज सातवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। वहीं, शपथ ग्रहण समारोह का मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल, कांग्रेस, भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी-लेनिनवादी, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने बहिष्कार किया।

नीतीश कुमार को राजभवन में आयोजित एक सादे समारोह में राज्यपाल फागू चैहान ने मुख्यमंत्री के पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। श्री कुमार के बाद राज्यपाल ने भारतीय जनता पार्टी के नेता तार किशोर प्रसाद और रेणु देवी तथा जदयू के विजय कुमार चैधरी, बिजेंद्र प्रसाद यादव, अशोक चैधरी और मेवालाल चैधरी ने पद और गोपनीयता की शपथ ली।
तार किशोर प्रसाद और रेणु देवी उपमुख्यमंत्री बनाए गए हैं।

शपथ लेने वाले अन्य नेताओं में जदयू की शीला कुमार, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के संतोष कुमार सुमन, विकाशील इंसान पार्टी के मुकेश सहनी, भाजपा के मंगल पांडेय, अमरेंद्र प्रताप सिंह, रामप्रीत पासवान, जीवेश कुमार और रामसूरत कुमार को मंत्री पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई गई।

शपथ ग्रहण समारोह में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद थे। इनके अलावा केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चैबे, बिहार विधान परिषद के सभापति अवधेश नारायण सिंह, पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, भाजपा बिहार मामलों के प्रभारी भूपेंद्र यादव समेत राजग में शामिल जदयू, भाजपा, हम और वीआईपी के नवनिर्वाचित विधायक उपस्थित थे।

राजद ने शपथ ग्रहण समारोह के पूर्व ही इसके बहिष्कार की घोषणा कर दी थी। राजद के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर शपथ ग्रहण समारोह के बहिष्कार के पार्टी के निर्णय की जानकारी दी गई है । ट्वीट में कहा गया है, “राजद शपथ ग्रहण का बायकॉट करता है। बदलाव का जनादेश राजग के विरुद्ध है। जनादेश को ‘शासनादेश’ से बदल दिया गया । बिहार के बेरोजगारों, किसानो, संविदाकर्मियों, नियोजित शिक्षकों से पूछे कि उनपर क्या गुजर रही है। राजग के फर्ज़ीवाड़े से जनता आक्रोशित है। हम जनप्रतिनिधि हैं और जनता के साथ खड़े हैं।”

 495 total views

Share Now

Leave a Reply