छपी-अनछपीः जदयू ने ’दूसरा चिराग’ बुझाया, अल्लाह जाने क्या होगा आगे!

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट, पटना। कभी नीतीश कुमार की आंखों के तारा रहे आरसीपी सिंह को दूसरा चिराग बताया जाएगा, यह किसने सोचा था। पहला चिराग तो चिराग पासवान थे, जिनके बारे में जदयू नेताओं की शिकायत है कि उनकी वजह से बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में जदयू 43 सीटों के साथ तीसरे नंबर की पार्टी बन गयी थी और मन मसोस कर रह गयी थी। जदयू नेता साफ तौर पर इशारा कर रहे हैं कि पहले चिराग पासवान को भाजपा ने नीतीश कुमार के खिलाफ उकसाया और अब आरसीपी को उनके समानांतर खड़ा करने और जदयू को तोड़ने की कोशिश में थी।
जदूय नेताओं को लग रहा है कि इस ’दूसरे चिराग’ को समय पर बुझाकर जदयू को घर के चिराग की आग से बचा लिया है। एक दिन के बाद जदयू की बेहद अहम बैठक होने वाली है। अब आगे क्या होगा, यह तो अल्लाह जाने लेकिन लोग किसी भूचाल का अंदाजा लगा रहे हैं। यही खबर आज अक्सर अखबारों में छायी हुई है।
प्रभात खबर में ललन सिंह का बयान सबसे बड़ी सुर्खी हैः जदूय दौड़ता हुआ जहाज, नहीं शामिल होंगे केन्द्रीय मंत्रिमंडल में। जागरण ने लिखा हैः जदयू का पलटवार, आरसीपी के रूप में दूसरा चिराग तैयार किया जा रहा था। भास्करः केन्द्रीय कैबिनेट में शामिल नहीं होगा जदूूय, आरसीपी दूसरे चिराग। हिन्दुस्तान की हेडलाइन हैः दूसरा चिराग तैयार करने का था षडयंत्रः ललन। टाइम्स आॅफ इंडिया ने भी इस खबर को पहले पेज पर जगह दी है।
हिन्दुस्तान की सबसे बड़ी खबर राष्ट्रीय हस्तकरघा दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में नीतीश कुमार का बयान है। हेडिंग हैः बुनकरों के उत्पाद खरीदेगी सरकार। इसमें बताया गया है कि सरकार गेस्ट हाउस और दफ्तरों में हैंडलूम व खादी की चादर, पर्दा और तकिया का खोल खरीदेगी। अस्पतालों के लिए सात लाख सतरंगी चादरें बनायी गयी हैं।
टाइम्स आॅफ इंडिया की सबसे बड़ी खबर काॅमनवेल्थ गेम्स की हैः भारत की जबर्दस्त कूदः तिहरी कूद में ऐतिहासिक सोना-चांदी।
काॅमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट यूजी के इम्तिहान अब 28 अगस्त तक होंगे। इस बीच यूजीसी ने सीयूईटी में गड़बड़ी के पीछे साजिश होने की बात कही है। इससे सीयूईटी का रिजल्ट आने मंे भी देरी तय है।
आज के हिन्दी अखबारों की दूसरी सबसे बड़ी खबर पटना के लिए बहुत ही चिंताजनक है जिसमें आईएसआईएस के कथित सदस्य की दिल्ली मंे गिरफ्तारी की बात कही गयी है। प्रभात खबर की हेडिंग हैः पटना निवासी आईएसआईएस का सदस्य दिल्ली में पकड़ाया। जागरण ने लिखा हैः आईएस के लिए धान जुुटाने वाला आतंकवादी दिल्ली से गिरफ्तार। हिन्दुस्तान की हेडिंग हैः दिल्ली में एनआईए ने पटना निवासी आईएस आतंकी को गिरफ्तारी किया। इस आरोप में गिरफ्तार मोहसिन अहमद का घर दीघा में बताया गया है जो बीटेक करने दिल्ली गया था।
अयोध्या में जमीन घोटाले के आरोपितों की सूची में वहां के भाजपा के स्थानीय विधायक वक प्रकाश गुप्ता और मेयर ऋषिकेश उपाध्याय के नाम शामिल हैं। यह खबर टाइम्स आॅफ इंडिया में पहले पेज पर है।
टाइम्स आॅफ इंडिया ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि राज्य की 36 यूनिवर्सिटियों में महज 8 को ’नैक’ से ग्रेडिंग मिली है।
राजद समेत विपक्षी दलों द्वारा महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन को भी सभी अखबारों ने अंदर के पेज पर जगह दी है।
अनछपीः प्रधानमंत्री मोदी की 12 जुलाई की यात्रा के बाद से पटना के लिए कुछ बेहद चिंताजनक खबरें आ रही हैं। पहले तो फुलवारी शरीफ में पीएफआई से जुड़े लोगों की इस आरोप में गिरफ्तारी हुई कि वे देश विरोधी गतिविधियों में शामिल थे। फिर पटना पुलिस से यह मामला एनआईए के हाथों मंे चला गया। उस मामले मंे गिरफ्तार लोगों की अदालती सुनवाई अभी शुरू भी नहीं हुई है और अब पटना के मोहसिन अहमद के बारे मंे आईएस से जुड़े होेने का आरोप लगा है। इस बार सीधे एनआईए ने गिरफ्तारी की है। नोटबंदी और अन्य उपायों से यह उम्मीद की गयी थी कि आंतकी संगठनों की सारी गतिविधयों पर काबू कर लिया जाएगा लेकिन इसके बावजूूद ऐसी खबरें मिलना चिंता का विषय है। इस मामले मंे एनआईए को इस सवाल का भी सामना करना पड़ता है कि उसकी कार्रवाई से कोई निर्दोष तो नहीं फंस रहा है जैसा कि कई बार कई वर्षों तक जेल में रहने के बाद रिहाई के मामलों से उजागर होता है।

 574 total views

Share Now

Leave a Reply