छ्पी-अनछपी: लोकसभा के साथ विधानसभा चुनाव चाहते हैं नीतीश? बंगाल में रद्द किये जा रहे ‘आधार’

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना। इस बात की चर्चा पहले भी थी कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विधानसभा भंग कर सकते हैं और अब नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी कहा है कि नीतीश कुमार लोकसभा चुनाव के साथ विधानसभा चुनाव चाहते हैं। उधर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आरोप लगाया है कि सीएए और एनआरसी लागू करने के लिए लोगों का आधार कार्ड निष्क्रिय किया जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि चंडीगढ़ मेयर चुनाव में खरीद फरोख्त हो रही है। आज के अखबारों में आम लोगों के लिए यह तीन महत्वपूर्ण खबरें हैं।

बिहार की राजनीति में उपमुख्यमंत्री की भूमिका के बाद नेता प्रतिपक्ष बने तेजस्वी यादव सोमवार को फेसबुक लाइव पर आए। जागरण के अनुसार अपने इस कार्यक्रम के जरिए तेजस्वी ने जहां बीते 17 महीने में किए गए अपने काम का ब्योरा दिया वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने दावा किया कि नीतीश कुमार अब अपनी कुर्सी के लिए विधानसभा भंग करना चाहते हैं। उनकी मंशा है कि लोकसभा के साथ ही विधानसभा चुनाव हो जाएं ताकि वह सुरक्षित हो जाएं। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए। तेजस्वी ने फेसबुक लाइव में 2010 से लेकर 2022 के बीच नीतीश कुमार के इधर से उधर होने का पूरा मामला रखा।

सीएए, एनआरसी और आधार कार्ड

जागरण की खबर है कि बंगाल की मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने राज्य के कुछ लोगों के आधार कार्ड निष्क्रिय होने को लेकर सोमवार को केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि यह भाजपा सरकार की सोची समझी साजिश है। उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) व राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) लागू करने के लिए ऐसा किया जा रहा है। इसके साथ ही उन्होंने प्रभावितों के लिए राज्य सरकार की ओर से वैकल्पिक कार्ड जारी करने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि बंगाल में ज्यादातर मतुआ समुदाय के लोगों के आधार कार्ड निष्क्रिय किए गए हैं। साथ ही अनुसूचित जाति व अल्पसंख्यकों के आधार कार्ड भी निष्क्रिय किया जा रहे हैं।

चंडीगढ़ मेयर चुनाव में खरीद फरोख्त

सुप्रीम कोर्ट ने चंडीगढ़ मेयर चुनाव से संबंधित बैलट पेपर और मतगणना के दिन का पूरा वीडियो फुटेज मंगलवार को कोर्ट में पेश करने का आदेश दिया है ताकि कोर्ट इस सारे रिकॉर्ड को देखकर जान सके कि उस दिन क्या हुआ था और वास्तविक स्थिति क्या है। जागरण ने इसे अपनी पहली खबर बनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि जो खरीद फरोख्त चल रही है उसे वह बेहद चिंतित है और मामले को मंगलवार को ही सुनवाई पर लगाने का आदेश दिया एवं सुनवाई किसी और दिन करने की मांग ठुकरा दी। अदालत नए सिरे से मतदान करने का आदेश देने की बजाय पहले ही डाले गए मतों के आधार पर परिणाम घोषित करने पर विचार कर सकती है।

सरकारी दफ्तरों में होगा स्वागत

हिन्दुस्तान की सबसे बड़ी खबर है कि राज्य सरकार के दफ्तरों में आगंतुकों को बेहतर सविधाएं और सम्मान मिलेगा। इसको लेकर विभागों में लोक संवेदना अभियान पखवारा मनाया जाएगा। पदाधिकारियों का जनप्रतिनिधियों व अन्य लोगों के साथ व्यवहार में संवेदनशीलता लाने के मकसद से यह अभियान चलेगा। साथ ही, उच्च स्तर पर इसकी निरंतर निगरानी भी होगी, ताकि इसे प्रभावी ढंग से लागू किया जा सके। सरकारी कार्यालय में आने वालों के लिए बैठने, पेयजल आदि की व्यवस्था में भी सुधार होगा। विधानसभा में सोमवार को पहली पाली में सदस्य नीतीश मिश्रा के सवाल पर यह जानकारी प्रभारी मंत्री विजय कुमार चौधरी ने दी।

हमारे तीन विधायकों को क्या लालच दिया: राजद

भास्कर की खबर है कि बिहार विधानसभा में राज्य के बजट पर चर्चा के दौरान राष्ट्रीय जनता दल के अख्तरुल इस्लाम शाहीन ने कहा कि आरोप लग रहा है कि एनडीए के विधायकों को तोड़ने की कोशिश की ले गई लेकिन देश यह भी देख रहा है कि राजद के तीन विधायकों को इधर से उधर ले जाया गया। उन्होंने कहा कि सरकार बताए कि उन्हें क्या प्रलोभन दिया गया। ध्यान रहे कि फ्लोर टेस्ट के दिन राजद के प्रह्लाद यादव, नीलम देवी और चेतन आनंद फ्लोर क्रॉस कर गए। राजद के ही विधायक भाई वीरेंद्र ने अपनी पार्टी के दो विधायकों प्रह्लाद यादव और नीलम देवी के सत्ता पक्ष की ओर बैठने पर आपत्ति जताई।

मोबाइल की लत ने ली दो की जान

शेखपुरा और बेगूसराय में मोबाइल फोन नहीं देने पर आत्महत्या करने की अलग-अलग खबरों को पहले पेज पर प्रमुख स्थान दिया है। शेखपुरा जिले के बरबीघा थाना क्षेत्र के फैजाबाद मोहल्ले की  22 वर्षीय महिला स्वाति कुमारी ने इसलिए जहर खाकर जान दे दी कि उसके पति ने उससे मोबाइल छीन लिया था। स्वाति के पति चंदन कुमार विश्वकर्मा ने बताया कि रविवार की शाम वह मोबाइल पर किसी से बात करने में पास में रो रही डेढ़ वर्ष की बेटी पर ध्यान नहीं दे रही थी। यह देखकर उसने गुस्से में मोबाइल फोन छीन लिया और घर से बाहर चला गया। थोड़ी देर बाद जब लौटा तो पत्नी जमीन पर बेहोश पड़ी मिली। उधर बेगूसराय के मंझौल के राजू कुमार ने नया मोबाइल खरीदने के लिए ₹10000 नहीं देने से नाराज होकर फंदे से लटक कर आत्महत्या कर ली।

राहुल की अमेठी यात्रा और स्मृति का तंज

हिन्दुस्तान की खबर है कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को आरोप लगाया कि देश को असल मुद्दों से भटकाया जा रहा है। भारत जोड़ो न्याय यात्रा लेकर राहुल सोमवार को अमेठी में दाखिल हुए। उन्होंने अमेठी कस्बे में रोड शो किया और गौरीगंज में संपर्क संवाद करते हुए बाबूगंज में जनसभा को संबोधित किया। उधर, अमेठी से सांसद और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने उन पर तंज कसा। उन्होंने कहा, ‘जो लोग अमेठी छोड़ गए और छूट गए वो केवल तब नजर आते हैं जब चुनाव होता है।”

कोचर की गिरफ़्तारी सत्ता का दुरुपयोग: कोर्ट

बम्बई हाई कोर्ट ने कर्ज धोखाधड़ी मामले में सीबीआई द्वारा आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) चंदा कोचर तथा उनके पति दीपक कोचर की गिरफ्तारी को ‘सत्ता का दुरुपयोग’ करार दिया। कोर्ट ने कहा कि कोचर दंपती की गिरफ्तारी कानून का उचित पालन किए बिना की गई थी।

किसान नेताओं ने प्रस्ताव ठुकराया

हिन्दुस्तान के अनुसार किसान नेताओं ने पांच साल के लिए सरकारी एजेंसियों द्वारा एमएसपी पर दलहन, मक्का और कपास खरीदने के केंद्र के प्रस्ताव को सोमवार को खारिज कर दिया और कहा कि यह किसानों के हित में नहीं है। उन्होंने कहा कि 21 फरवरी को दिल्ली कूच करेंगे। तीन केंद्रीय मंत्रियों- पीयूष गोयल, अर्जुन मुंडा और नित्यानंद राय के एक पैनल ने रविवार को चंडीगढ़ में चौथे दौर की वार्ता के दौरान किसानों को प्रस्ताव दिया था। सोमवार को किसान नेता जगजीत सिंह डल्लेवाल ने कहा कि हमारे दो मंचों पर चर्चा करने के बाद यह निर्णय लिया गया है कि केंद्र का प्रस्ताव किसानों के हित में नहीं है और हम इस प्रस्ताव को अस्वीकार करते हैं।

कुछ और सुर्खियां

  • तेजस्वी यादव की जन विश्वास यात्रा आज से, मुजफ्फरपुर सीतामढ़ी व शिवहर में करेंगे जनसभाएं
  • बिहार में 2 वर्षों में 78000 ट्रांसफार्मर लगाए जाएंगे, 1220 करोड़ रुपये खर्च होंगे
  • बिहार में 326 फर्जी फाइनेंस कंपनियों पर केस दर्ज
  • बिहार में आज रात से बदलेगा मौसम, कल तक बारिश की संभावना
  • समाजवादी पार्टी ने उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को 17 लोकसभा सीटों का दिया ऑफर
  • पश्चिम बंगाल के संदेश खाली मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा- यह मणिपुर नहीं

अनछपी: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सीएए और एनआरसी को लेकर आधार कार्ड निष्क्रिय करने के बारे में जो दावा किया है वह बेहद खतरनाक संकेत है। यह पूरा मामला क्या है इसके बारे में पूरी जानकारी नहीं लेकिन ममता बनर्जी का कहना है कि ऐसा सीएए और एनआरसी लागू करने के लिए किया जा रहा है। ध्यान रहे कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह लगातार कह रहे हैं कि सीएए देश का कानून है और यह लोकसभा चुनाव से पहले लागू होकर रहेगा। वह यह भी कहते हैं कि यह नागरिकता लेने का नहीं देने का कानून है लेकिन इसमें किसी को शक नहीं होना चाहिए कि सीएए के साथ एनआरसी भी आएगा। जब एनआरसी लागू होगा तो नागरिकता जाने की नौबत भी आएगी। इसको बहाना बनाकर एक बड़ी आबादी को परेशान किया जा सकता है और उनसे ऐसे कागजात की मांग की जा सकती है जो कि उन सबके पास नहीं हो सकते हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि आखिर चुपचाप आधार कार्ड को निष्क्रिय क्यों किया जा रहा है? भारतीय जनता पार्टी के विधायक और विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी का कहना है कि आधार कार्ड जारी करने वाली एजेंसी यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने स्पष्टीकरण जारी कर कहा है कि किसी भी आधार कार्ड को रद्द नहीं किया गया है। उन्होंने ममता बनर्जी पर अनावश्यक भय पैदा करने का आरोप लगाया लेकिन यह भी कहा कि निष्क्रिय आधार कार्डों को अगले 24 घंटे के अंदर सक्रिय कर दिया जाएगा। एक तरफ सुवेंदु अधिकारी कहते हैं कि आधार कार्ड रद्द नहीं किया गया है और दूसरी तरफ यह भी कहते हैं कि निष्क्रिय आधार कार्ड को 24 घंटे के अंदर सक्रिय कर दिया जाएगा। ऐसा लगता है कि सुवेंदु अधिकारी शब्दों की बाजीगरी कर रहे हैं और कहीं ना कहीं कोई साजिश रची जा रही है। ममता बनर्जी ने तो यह भी बताया कि मतुआ और अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों का आधार कार्ड निष्क्रिय किया जा रहा है। ममता बनर्जी एक राज्य की मुख्यमंत्री हैं और उनके आरोप में स्पष्टता है जबकि सुवेंदु अधिकारी की सफाई में परस्पर विरोध है। यहां बिहार की चर्चा जरूरी मालूम होती है जहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साफ तौर पर कहा था कि एनआरसी लागू नहीं किया जाएगा। लेकिन जब किसी के आधार कार्ड को ही निष्क्रिय किया जाए तो यह शक जरूर पैदा होता है कि कहीं यह एनआरसी में पेच पैदा करने के लिए तो नहीं किया जा रहा।

 

 

 

 

 1,709 total views

Share Now

Leave a Reply