दूसरे चरण की 94 सीटों पर हो रहे चुनाव में खड़ी हैं केवल 146 महिला उम्मीदवार

बिहार लोक संवाद न्यूज नेटवर्क

पटना 02 नवंबर बिहार विधान सभा चुनाव के दूसरे चरण में मंगलवार को 17 जिले की 94 सीटों पर मतदान कराया जाएगा। मतदान का सामान्य समय सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक रहेगा। लेकिन सुरक्षा कारणों की वजह से खगड़िया के बेलदौर और अलौली विधानसभा क्षेत्र, दरभंगा जिले के कुशेश्वरस्थान और गौड़ाबौराम विधानसभा क्षेत्र, मुजफ्फरपुर जिले के मीनापुर, पारू एवं साहेबगंज तथा वैशाली जिले के राघोपुर विधानसभा क्षेत्र में मतदान सुबह 7 बजे से शुरू होकर अपराह्न 4 बजे तक ही चलेगा।

अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार ने आज यहां संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा कि शांतिपूर्ण मतदान के लिए सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए हैं। उन्होंने बताया कि इस चरण में वेबकास्ट वाले मतदान केंद्रों की संख्या 3548 है। वहीं, 80 वर्ष से अधिक उम्र के वृद्ध एवं दिव्यांग के लिए 20240 पोस्टल बैलेट जारी किए गए हैं। इसके अलावा पटना सिटी विधान सभा क्षेत्र में 80 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्ग एवं दिव्यांग मतदाताओं को घर से मतदान केंद्र तक आने-जाने के लिए पहली बार ऑन डिमांड टैक्सी सेवा प्रदाता कंपनी उबर के जरिए मुफ्त परिवहन सेवा उपलब्ध कराई जा रही है।

इस चरण के मतदान में पथ निर्माण मंत्री एवं भाजपा प्रत्याशी नंदकिशोर यादव, ग्रामीण विकास मंत्री एवं जदयू प्रत्याशी श्रवण कुमार, राजद नेता तेजस्वी प्रसाद यादव, उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव, मंत्री रामसेवक सिंह, राजद अध्यक्ष लालू यादव के समधी चंद्रिका राय, काली पांडेय, नितिन नवीन, कांग्रेस नेता एवं अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा के बेटे लव सिन्हा, राजद के प्रधान महासचिव एवं पूर्व मंत्री आलोक कुमार मेहता, पूर्व सांसद लवली आनंद, पूर्व सांसद रामा सिंह की पत्नी बीना सिंह की प्रतिष्ठा दाव पर लगी है।

दो दर्जन से अधिक निर्वाचन क्षेत्रों में कोई महिला उम्मीदवार नहीं
कल हो रहे चुनाव के लिए 146 महिलाओं के साथ कुल 1,464 उम्मीदवार मैदान में हैं। इन 146 महिला उम्मीदवारों में से केवल 27 को प्रमुख राजनीतिक दलों ने टिकट दिया है। महागठबंधन ने 8, एनडीए ने 13, और लोक जनशक्ति पार्टी ने 6 महिलाओं को टिकट दिया है। शेष महिलाएं या तो स्वतंत्र उम्मीदवार के रूप में या छोटे राजनीतिक दलों के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं।
कई चुनाव क्षेत्रों में, लड़ाई मुख्य रूप से महिलाओं के खिलाफ महिलाओं के बीच ही है। सीतामढ़ी जिले के रुन्नी सैदपुर निर्वाचन क्षेत्र में, राजद उम्मीदवार मंगिता देवी लोजपा की गुड्डी देवी के खिलाफ लड़ रही हैं।

खगड़िया जिले में, जद (यू) की पूनम देवी एलजेपी की रेणु कुमारी के खिलाफ खड़ी हैं, जबकि बेगूसराय जिले के चेरिया बरियारपुर में मुख्य रूप से मुकाबला जद (यू) की मंजू वर्मा और लोजपा की राखी देवी के बीच है।

इस चरण में लगभग दो दर्जन विधानसभा क्षेत्रों में महिलाओं के खिलाफ महिलाओं की लड़ाई के अलावा, कोई महिला उम्मीदवार नहीं हैं। वैशाली में 14 उम्मीदवारों में से कोई महिला नहीं हैं। सीतामढ़ी निर्वाचन क्षेत्र में, 12 उम्मीदवारों की सूची में कोई महिला उम्मीदवार नहीं है।
सीवान जिले के महाराजगंज निर्वाचन क्षेत्र में, जिसमें 27 उम्मीदवार हैं, चुनाव मैदान में सबसे अधिक उम्मीदवार हैं, कोई महिला उम्मीदवार नहीं है।

इसके अलावा, नौ विधानसभा क्षेत्रों में, पटना साहिब (12 उम्मीदवार) और फतुहा (19 उम्मीदवार) महिला उम्मीदवारों के बिना हैं, जबकि कुम्हरार जिसमें कुल 24 उम्मीदवार हैं, केवल एक महिला उम्मीदवार है। बांकीपुर में कुल 22 उम्मीदवारों में 4 महिलाएं चुनाव लड़ रही हैं। दीघा में 6 उम्मीदवार हैं जिनमें 2 महिलाएं हैं। इनमें एक सीपीआई-एमएल से खड़ी हैं।

महिलाओं के राजनीतिक सशक्तिकरण के काम कर रहे कई समाजिक संगठनों ने इस चुनाव में महिलाओं की इतनी कम संख्या पर चिंता व्यक्त की है।

 532 total views

Share Now

Leave a Reply