छपी-अनछपीः यूपीएससी रिजल्ट, आरसीपी सिंह और बंगाल की सबसे बड़ी पर दावा

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट, पटना।
मंगलवार के बिहार के अखबारों में यूपीएससी के रिजल्ट और आरसीपी सिंह का राज्य सभा टिकट कटने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की टिप्पणी की खबरें छायी हुई हैं।
बिहार की अंकिता अग्रवाल को यूपीएससी में दूसरी पोजिशन मिलने की खबर हिन्दुस्तान और प्रभात खबर की पहली खबर है। भास्कर की पहली खबर भी यूपीएससी के रिजल्ट की है जिसमें बताया गया है कि टाॅप 20 में इस बार 14 आट्र्स बैकग्राउंड के उम्मीदावर हैं। जागरण की लीड आरसीपी सिंह को राज्यसभा का टिकट नहीं दिये जाने पर मुख्यमंत्री का बयान है।
अंकिता का पैतृक घर मधेपुरा के बिहारीगंज में है लेकिन अब उनका हार्डवेयर का कारोबार करने वाला परिवार कोलकाता में बस गया है। अंकिता ने डीपीएस कोलकाता से स्कूली पढ़ाई के बाद दिल्ली विश्वविद्यालय से इकाॅनमिक्स की पढ़ाई की है। यह उनका दूसरा प्रयास था। कुल 685 कामयाब उम्मीदवारों में महज 22 मुस्लिम समुदाय से बताये जा रहे हैं।
राज्यसभा के लिए आरसीपी सिंह को तीसरा मौका नहीं दिये जाने के बारे में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह कहकर बात टाल दी कि उन्हें पहले दो बार मौका दिया जा चुका था।
इधर, विधान परिषद के लिए राजद ने जिन तीन नामों का ऐलान किया है उनमें मुजफ्फरपुर के कारी सुहैब और रोेहतास के अशोक पांडेय का नाम तो बहुत चैंकाने वाला नहीं है लेकिन पटना जिले की मुन्नी देवी रजक बिल्कुल अनजाना नाम है। मुन्नी देवी को एमएलसी उम्मीदवार बनाने पर कई लोगों ने गया से 1996 में एमपी बनीं भगवतिया देवी की कहानी याद की जब लालू प्रसाद ने बिल्कुल अनजान भगवतिया को टिकट दिया था।
जागरण की खास खबर है कि अगस्त में 80 हजार टीचरों की बहाली होगी।
कौमी तंजीम में पहले पेज पर यह खबर छपी है- अब मगरिबी बंगाल की सबसे बड़ी तारीखी आदीनी मस्जिद पर दावा। यह मस्जिद मालदा जिले में है।

 198 total views

Share Now

Leave a Reply